• Sat. Apr 20th, 2024

प्रधान संपादक सनत शर्मा :- बहादराबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी कुछ ही घंटों में किया किडनैपिंग और मर्डर केस का पर्दाफाश ।

BySANAT SHARMA

Jan 14, 2023

प्रधान संपादक सनत शर्मा :- हरिद्वार बहादराबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी कुछ ही घंटों में किया किडनैपिंग और मर्डर केस का पर्दाफाश । बहादराबाद पुलिस की इस तुरंत कार्यवाही के लिए क्षेत्र में पुलिस की प्रशंसा का विषय बना हुआ है

बहादराबाद राम धाम कॉलोनी में कार्यरत लैब कलेक्शन सेंटर चलाने वाले कार्तिक की हत्या उसी के यहां काम करने वाले बिजनौर के दो युवकों ने की थी। इकलौते बेटे के परिवार से मोटी रकम मिलने के लालच में आकर दोनों ने पूरी प्लानिंग के बाद हत्या को अंजाम दिया और फिर उसी के मोबाइल से 70 लाख रुपये की फिरौती

रंगदारी पुलिस ने चंद घंटों के अंदर रोंगटे खड़े कर देने वाली वारदात का खुलासा कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी निपेन्द्र व शहादत सलेमपुर में भाजपा नेता के किराएदार निकले।
पुलिस कप्तान अजय सिंह ने सीसीआर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हत्याकांड से पर्दा उठाया। खुलासे में बहादराबाद थानाध्यक्ष नितेश शर्मा, चौकी प्रभारी अशोक सिरस्वाल और एसओजी टीम की अहम भूमिका रही है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि शिवमंदिर चौक बहादराबाद निवासी प्रेमचन्द्र पुत्र कुलचन्द द्वारा थाना बहादराबाद में आकर प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि उनका पुत्र कार्तिक कुमार की रामधाम कालोनी रानीपुर में अनिका पैथोलोजी नामक लैब है। उनका पुत्र दिनांक 12.01.2023 को सुबह अपनी पैथोलोजी में गया था लेकिन 24 घंटे से ज्यादा होने पर भी वापस नही लौटा। उक्त सम्बन्ध में प्रार्थनापत्र के आधार पर थाना बहादराबाद में गुमशुदगी दर्ज करते हुए पुलिस टीम ने गुमशुदा कार्तिक की तलाश के प्रयास शुरू की। इस बीच जानकारी मिली कि कार्तिक के मोबाइल से कार्तिक की मां अंगूरी देवी को एक काल आयी। जिसमें अज्ञात कॉलर ने कार्तिक की मां से कार्तिक की जान सलामती के लिए 70 लाख फिरौती देने व इस सम्बन्ध में पुलिस को न बताने की चेतावनी दी गई। इस सम्बन्ध में कार्तिक की माता के कथन अन्तर्गत धारा 161 सीआरपीसी व अन्य साक्ष्यों के आधार पर गुमशुदगी को फिरौती के लिए अपहरण में तरमीम करते हुए अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया।
ऐसे खुला राज……

विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रही पुलिस टीम को जानकारी मिली कि कार्तिक ने 13 जनवरी को कुल तीन ट्रांजेक्शन किये गये। ये ट्रांजेक्शन शराब के ठेके, मुरादाबादी बिरयानी सेन्टर व कृष्णा ट्रेडर्स से होने की जानकारी मिलते ही सम्बन्धित स्थानों की सीसीटीवी फुटेज टटोलने पर एक लाल जैकेट पहना हुआ स्कूटी सवार लडका मोबाइल बारकोड से पैसे ट्रांसफर करते हुये दिखा। लाल जैकेट पहने लड़के की पहचान पैथोलोजी लैब में सेम्पल लेने का काम कर निपेन्द्र के रूप में हुई।

सख्ती से पूछताछ करने पर संदिग्ध निपेन्द्र ने लैब में कार्यरत शहादत अली के साथ हत्या को अंजाम देने की बात स्वीकारते हुए मृतक कार्तिक का शव शहादत के दादुपुर के कमरे मे छिपाना स्वीकार किया गया। निपेन्द्र व शहादत को इकबालिया बयान के आधार पर गिरफ्त मे लेकर निशादेही पर किराए के कमरे के बाथरुम से शव बरामद किया गया। मौके पर पहुँच कर मोबाइल फोरेन्सिक टीम ने साक्ष्य एकत्र कर लिये हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *