• Mon. May 20th, 2024

Facebook twitter wp चीन से तनाव के बीच भारत को रूसी हथियारों से दूर करने के लिए तीन अमेरिकी सीनेटरों का विधायी संशोधन पेश

ByAdmin

Oct 2, 2022

साझे लोकतांत्रिक मूल्यों में निहित भारत-अमेरिका की मजबूत रक्षा भागीदारी को हिंद प्रशांत क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए अमेरिका के तीन सीनेटरों ने एक विधायी संशोधन पेश किया है। विधेयक में कहा गया है कि यह बाइडन प्रशासन को भारत को रूसी हथियारों से दूरी बनाने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध करता है। सीनेट में भारतीय काकस के सह-अध्यक्ष सीनेटर मार्क वार्नर, सीनेटर जैक रीड व जिम इनहोफ ने राष्ट्रीय रक्षा प्राधिकार अधिनियम में संशोधन को लेकर कहा कि भारत अपनी सीमा पर चीन से गंभीर खतरे का सामना कर रहा है।

 

कहा, चीन सीमा पर गतिरोध के बीच भारत को दिलानी होगी साझा लोकतांत्रिक मूल्यों की याद

दरअसल, मई 2020 में पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों की घुसपैठ से भारत और चीन के बीच संबंधों में काफी कड़वाहट आ गई है और सीमा पर सैन्य गतिरोध बना हुआ है। संशोधन में कहा गया है कि अमेरिका को भारत की रक्षा जरूरतों का समर्थन करते हुए उसे रूस निर्मित हथियार व रक्षा प्रणाली न खरीदने के लिए प्रेरित करने को अतिरिक्त कदम उठाने चाहिए। भारत अपनी राष्ट्रीय रक्षा के लिए रूस निर्मित हथियारों पर अधिक निर्भर रहता है। अक्टूबर, 2018 में भारत ने अमेरिकी चेतावनी को दरकिनार करते हुए एस-400 वायु रक्षा मिसाइल प्रणालियों की पांच यूनिट खरीदने के लिए पांच अरब डालर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

Related Post

प्रधान संपादक सनत शर्मा :- (हैरान-परेशान) म्रत युवक 2 साल बाद हुआ जीवित । कोरोना महामारी के चलते हुआ था म्रत घोषित ।
प्रधान संपादक सनत शर्मा :- हरिद्वार विधायक मदन कौशिक के लिए केन्द्र ने क्यो किये ऐसे आदेश जारी अब आगे क्या होगा । जानिए पूरी खबर ।
प्रधान संपादक सनत शर्मा :- हरिद्वार: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देश के 75 जिलों में स्थित 75 डिजिटल बैंकिंग यूनिटों का, जिसमें जिला हरिद्वार के देवपुरा स्थित एचडीएफसी बैंक भी शामिल है, का एक साथ बटन दबाकर नई दिल्ली से ऑन लाइन किया शुभारम्भ ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *